बिजली बिल जमा करने के नाम पर पैसे का गबन

Spread the love

संविदा कर्मियों ने तीन लाख डकारे

मेरठ। वरिष्ठ संवाददाता गंगानगर सब डिवीजन के सैनी बिजलीघर पर तैनात संविदा कर्मियों ने 21 उपभोक्ताओं से बिजली बिल जमा करने के नाम पर अलग-अलग धनराशि का गबन कर लिया। सामाजिक कार्यकर्ता नरेश शर्मा की शिकायत पर उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन चेयरमैन ने पांच लाख रुपये के घोटाले की आरोप की शिकायत पर जांच के निर्देश दिए। अफसरों की दो सदस्यीय कमेटी ने मामले की जांच की तो 21 उपभोक्ताओं से ली गई दो लाख 91 हजार 143 रुपये के गबन का मामला पकड़ा। मामले में दोषी मिले अवर अभियंता एवं संविदा कर्मचारी पर जांच कमेटी ने कार्रवाई की संस्तुति कर दी।

सामाजिक कार्यकर्ता नरेश शर्मा ने सैनी बिजलीघर पर तैनात कर्मचारियों पर पांच लाख रुपये के घोटाले का आरोप लगाते ‘ हुए पावर कारपोरेशन चेयरमैन एम. देवराज से शिकायत की थी। आरोप था कि 21 उपभोक्ताओं से बिजली कनेक्शन और समस्या निवारण के नाम पर पांच लाख का घोटाला किया है। निदेशक कार्मिक एवं प्रबंधन पीवीवीएनएल के निर्देश पर अधिशासी अभियंता मेरठ जोन ओम प्रकाश राम तथा लेखाकारी राम रतन सुमन को जांच सौंपी गई। उधर, सैनी बिजलीघर के अवर अभियंता अनिल कुमार, संविदा कर्मचारी प्रिंस कुमार, संविदा कर्मचारी राहुल रस्तोगी पर ‘आरोप थे। अफसरों ने जांच शुरू की तो 12 उपभोक्ताओं का विवरण • संविदा कर्मी प्रिंस तथा आठ ‘उपभोक्ताओं की जानकारी अवर अभियंता अनिल कुमार से मिली।

बिजली कर्मचारी के मामले में रिपोर्ट तलब

मेरठ। रिठानी परतापुर निवासी राहुल उपाध्याय ने प्रबंध निदेशक पीवीवीएनएल को शिकायत की थी। अधीक्षण अभियंता शिकायत प्रकोष्ठ ने मुख्य अभियंता को पत्र भेजकर अधीक्षण अभियंता देहात के दफ्तर में तैनात कर्मचारी को लेकर रिपोर्ट मांगी है। आरोप है कर्मचारी की रिश्वत लेते वीडियो वायरल हुआ था।

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA ImageChange Image