बिजली कनेक्शन कैसे कटवाए | Bijli Connection Kaise Katwaye

Spread the love

इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की Bijli Connection Kaise Katwaye. वैसे तो आज के समय में बिना बिजली के कोई भी नहीं रह सकता है पर बहुत सी बार हमें बिजली कनेक्शन बंद भी करवाना पड़ जाता है जिसके पीछे अलग-अलग कारण हो सकते है. बिजली कनेक्शन बंद करने में बहुत से विद्युत् उपभोगता को परेशानियों का सामना करना पड़ता है और बिजली विभाग में शिकायत करने या बार-बार बिजली विभाग के झोन में चक्कर लगाने पर भी कोई मदद नहीं होती है. इस पोस्ट में हम बिजली कनेक्शन को बंद करने की पूरी जानकारी देने वाले है ताकि किसी भी विद्युत् उपभोगता को किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े और भविष्य में बिजली विभाग से कोई परेशानी भी न हो तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पड़ियेगा.

बिजली कनेक्शन कैसे कटवाए | Bijli Connection Kaise Katwaye

bijli connection kaise katwaye

बिजली कनेक्शन काटने के नियम (Bijli Connection Katne k Niyam 2024)

  1. बिजली कनेक्शन कम से कम 1 वर्ष पुराना होना चाहिए तभी आप बिजली कनेक्शन काटने के लिए अपने विद्युत् झोन पर अनुरोध कर सकते है.
  2. अगर विद्युत् उपभोगता बिजली स्तेमाल करने के बाद लम्बे समय से बिजली बिल नहीं भर रहा हो और बिजली विभाग के नोटिस जारी करने व नोटिस में बताई गई दिनांक तक बिल का भुगतान नहीं करता है तो बिजली विभाग उस उपभोगता का कनेक्शन काट सकता है.
  3. आज के समय में बिजली कंपनी बिजली बिल में बिल भुगतान की आखरी दिनांक के साथ डिस्कनेक्शन दिनांक भी प्रविश्स्ट कर देते है जिसके बाद अगर विद्युत् उपभोगता बिल का भुगतान नहीं करता है तो बिजली विभाग बिना नोटिस दिए आपके बिजली कनेक्शन को डिस्कनेक्शन कर सकता है, इस लिए हमेशा समय पर अपना बिजली बिल का भुगतान करे.
  4. बिजली उपभोगता विद्युत् संहिता के प्रावधान का उल्लंघन करता पाया जाता है तो बिजली विभाग उसके खिलाफ प्रकरण बना कर उन्हें नोटिस भेजता है पर उसके उपरांत भी अगर विद्युत् उपभोगता बार-बार ऐसा करता पाया जाता है तब बिजली कंपनी उस कनेक्शन को डिस्कनेक्ट करने का अधिकार रखता है.
  5. अगर विद्युत् उपभोगता ऐसा कोई कृत्या करता पाया जाता है जिससे स्वयं या किसी अन्य व्यक्ति को क्षति या जान-माल की हानि पंहुचा सकता हो तब भी बिजली कंपनी आपका कनेक्शन डिस्कनेक्शन कर सकता है.
  6. अगर विद्युत् उपभोगता ऐसा कोई कृत्या करता पाया जाता है जिसमे बिजली कंपनी की किसी भी संपत्ति को क्षति या हानि पंहुचा रहा हो तब भी बिजली कंपनी आपका कनेक्शन डिस्कनेक्शन कर सकता है.
  7. कोई भी विद्युत् उपभोगता बिजली विभाग की लाइन, ट्रांसफर्मर या किसी अन्य विद्युत संयंत्र के साथ छेड़छाड़ करते पाया जाता है, तो बिजली कंपनी आपको उसका नोटिस दे कर आपका कनेक्शन काटने का अधिकार रखता है व आपके खिलाफ प्रकरण और पेनल्टी भी लगा सकता है.
  8. बिजली बिल का चेक से भुगतान करने पर अगर चेक बाउंस होता है तब भी बिजली विभाग आपका कनेक्शन काट सकता है और चेक बाउंस होने का प्रकरण भी लगा सकता है.

Note : बिजली कंपनी समय-समय पर बिजली कनेक्शन काटने के नियमो में बदलाव करते रहते है जिसे हम भी इस पोस्ट में समय-समय पर इस पोस्ट में अपडेट करते रहते है | बिजली कनेक्शन काटने के और भी बहुत से नियम होते है जिन्हें भी हम इस पोस्ट में भविष्य में अपडेट करते रहते है | बिजली कनेक्शन काटने के नियमो के बारे में बिजली विभाग के Toll Free 1912 नंबर पर कॉल कर जानकारी ले सकते है |

बिजली कनेक्शन काटने के बाद ये 2 दस्तावेज आपके पास होना चाहिए:

1. मीटर सीलिंग प्रमाणपत्र (Meter Sealing Certificate) –

बिजली कनेक्शन काटने के लिए आवेदन करने के बाद बिजली विभाग आपके बिजली Meter को निकालने आते है और आपके बिजली Meter को चेक करते है की इसमें किसी तरह की कोई छेड़-छाड़ (Meter Tampering) तो नहीं की हुई है | इसके उपरांत आपको एक “मीटर सीलिंग प्रमाणपत्र” देते है जिसमे Meter Serial Number और Meter में खपत हुई यूनिट संख्या को लिख कर आपको देते है और उसकी एक कॉपी पर आपसे हस्ताक्षर करवाते है जिसका एक नमूना हमने चित्र क्रमांक – 1.1 में दर्शाया है | Note : एक बहुत जरुरी बात जिसका आपको ध्यान रखना है, निकले हुए मीटर की फोटो और विडियो अपने मोबाइल से जरुर बनाये क्यूँ की बहुत सी बार ऐसा देखा गया है बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर को ले जाने के बाद आप पर झूठा आरोप लगाते है की आपने मीटर में छेड़-छाड़ (Meter Tampering) की है और आपसे पैसे ऐठने की कोशिश करते है |

meter sealing certificate
चित्र क्रमांक 1.1 – Meter Sealing Certificate

2. अंतिम बिल रसीद (Final Bill Reciept) –

बिजली कनेक्शन काटने के लिए आवेदन करने के बाद और आपके बिजली Meter को आपके परिसर से निकालने के बाद उसमे दर्ज यूनिट के आधार पर बिजली विभाग आपको एक अंतिम बिजली बिल (Final Bill) बना कर देता है जिसे आपको भर कर उस रसीद को संभल कर रखना होता है | अंतिम बिजली बिल का एक नमूना हमने चित्र क्रमांक – 1.2 में निचे दर्शाया है | “मीटर सीलिंग प्रमाणपत्र” व “अंतिम बिजली बिल रसीद” लेने के बाद बिजली विभाग भविष्य में कभी आपसे 1 लेने का दावा भी नहीं कर पायेगा | Note : एक बहुत जरुरी बात, नियमों के हिसाब से अंतिम बिल में आपके कनेक्शन में जमा सिक्यूरिटी डिपाजिट राशी को भी समायोजित कर बकाया बिल राशी मे से घटाना होता है पर बहुत सी बार ऐसा देखा गया है की बिजली विभाग ऐसा करता नहीं है और बिजली विभाग के कर्मचारी आपको सिक्यूरिटी डिपाजिट राशी का हिसाब नहीं देते जिसका आपको ध्यान रखना चाहिए |

final bill reciept
चित्र क्रमांक 1.2 – Final Bill Reciept

बिजली कनेक्शन वापस लगाने की प्रक्रिया

  • अगर आपने बिजली कनेक्शन को PD याने Permanent Disconnection करवाया था तो उस स्थिति में आपको दुबारा बिजली कनेक्शन लेने के लिए फिर से डॉक्यूमेंट और पेमेंट देना होगा, जैसी प्रक्रिया हमें नया कनेक्शन लेते समय करना होता है,
  • अगर बिजली बिल का भुगतान नहीं होने की वजह से आपका बिजली कनेक्शन काटा गया था तो उपभोक्ता अपने बकाया बिजली बिल का भुगतान करने के बाद बिजली कनेक्शन पाने का हकदार है.
  • बकाया बिजली बिल का भुगतान करने के बाद अपने विद्युत् झोन पर रि-कनेक्शन के लिए आवेदन करें और रि-कनेक्शन शुल्क देना होता है जो 300 से 500 हो सकता है उसके बाद बिजली विभाग के कर्मचारि आपके बिजली कनेक्शन को पुनः चालु कर देते है, लेकिन ध्यान रहे बकाया बिजली बिल का भुगतान करने के बाद आपको खुद से अपने कनेक्शन को चालु करने की गलती नहीं करना है |
  • अगर बिजली बिल का भुगतान नहीं होने की वजह से आपका बिजली कनेक्शन काटा गया था तो बिजली कंपनी के डाटा में आपका कनेक्शन कटा हुआ दर्शाया जाता है जिसे दुबारा चालु करने के लिए रि-कनेक्शन शुल्क दे कर उसकी रसीद जरुर ले जिसके बाद बिजली विभाग जब किसी कनेक्शन को दुबारा बहाल करता है तो उसे बिजली कंपनी के डाटा में फिर से चालू बिजली कनेक्शन दर्शाया जाता है.
  • रि-कनेक्शन शुल्क दिए बिना कनेक्शन को चालु करना नियमों के खिलाफ है फिर चाहे आपने पूरा बिल भर ही क्यूँ न दिया हो इस लिए रि-कनेक्शन शुल्क की रसीद को संभाल कर रखे ताकि भविष्य में बिजली कंपनी आपके खिलाफ बिजली चोरी का प्रकरण ना बना सके.

बिजली कनेक्शन कटवाने के लिए एप्लीकेशन फॉर्मेट (Bijli Connection Katwane k Liye Application Format) :

बिजली कनेक्शन कटवाने के लिए Application लिखना बहुत ही आसान है | यहाँ हम आपको उस एप्लीकेशन का प्रारूप बता रहे है जिसे देख कर ही आप समझ जायेंगे के आवेदन पत्र लिखना कितना आसान होता है | इस आवेदन पत्र के प्रारूप में जैसा लिखा है आपको वैसा ही लिखना है बस आपको इसमें अपनी जानकारी लिखना है जैसे विद्युत् झोन का पता, विद्युत् उपभोगता क्रमांक, व आपको नाम और पता लिखना है | इस एप्लीकेशन के प्रारूप को आप निचे दी हुई लिंक से डाउनलोड भी कर सकते है |

सुचना : इस प्रारूप में स्तेमाल की गई जानकारी काल्पनिक है जिसका किसी भी व्यक्ति विशेष से किसी भी तरह से कोई संबंध नहीं रखती, अगर ऐसा होता भी है तो इसे मात्र एक सैंयोग माना जायेगा |

bijli connection katwane k liye application pdf

चित्र क्रमांक 1.3 – bijli connection katwane k liye application formatइस एप्लीकेशन को बनाने के बाद आपको इसकी 2 कॉपी बनाना है और आप जब भी इसे अपने विद्युत् झोन में जमा करने जायेंगे तब दूसरी कॉपी पर उसकी “पावती (रिसीविंग)” जरुर ले, मतलब संबंधित विभाग में जो भी कर्मचारी या अधिकारी आपकी एप्लीकेशन लेगा दूसरी कॉपी पर हस्ताक्षर, दिनांक और विभाग की सील लगा कर देगा | पावती (रिसीविंग) के बिना आपके द्वारा दिए गए आवेदन या शिकायत पत्र का कोई मतलब नहीं होगा | पावती (रिसीविंग) एक तरह से रसीद का काम करती है जो आपके द्वारा दी हुई शिकायत या आवेदन को साबित करता है और भविष्य में अगर उस आवेदन या शिकायत पत्र पर कोई काम नहीं होता है तो पिछली शिकायत या आवेदन की पावती से आप संबंधित अधिकारी की उच्चस्तरीय शिकायत करने में स्तेमाल कर सकते है | निचे दिखाये गए चित्र में आप पावती (रिसीविंग) का उदाहरण देख सकते है |

bijli connection katwane hetu awedan patra pdf

बिजली कनेक्शन कैसे कटवाए (Bijli Connection Kaise Katwaye) :

Conclusion :

इस पोस्ट में हमने आपको बहुत ही आसन भाषा में बताने वाले है की बिजली कनेक्शन कैसे कटवाए. अब बिजली कनेक्शन बंद करने के लिए परेशान होने की बिलकुल भी जरुरत नहीं क्यूँ की इस पोस्ट में हमने आपको इस टॉपिक से सम्बंधित पूरी जानकारी विस्तार में बता दी और अगर आप हमसे कुछ पूछना चाहते है तो कमेंट्स करें हम उसका जवाब जरुर देंगे |

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA ImageChange Image