बिजली बिल घर बैठे जमा होगा, नहीं काटने होंगे चक्कर

जासं, मेरठ | घर बैठे उपभोक्ताओं को बिजली बिल जमा करने की 5 सुविधा देने को पश्चिमांचल डिस्काम ने पांच कंपनियों से करार किया है। इससे उपभोक्ताओं को बिजली उपकेंद्र पर नहीं जाना पड़ेगा। प्रबंध निदेशक चैत्रा वी. ने बताया कि मेरठ सहित डिस्काम के सभी 14 जनपदों में यह सुविधा प्रदान की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों मैं विलेज लेवल एंटरप्रेन्योर (वीएलई) को बढ़ावा देने के लिए, प्रदेश सरकार द्वारा सामान्य जन सुविधा केंद्रों का नेटवर्क स्थापित किया गया है। यह जन सुविधा केंद्र डिस्काम के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में विद्युत बिलों को जमा कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इन केंद्रों के संसाधन सीमित होने के कारण विभाग द्वारा अब सीधे उपभोक्ताओं से जुड़ने के लिये पांच नई बिलिंग एजेंसियों को नियुक्त किया गया है। ये एजेंसी मैसर्स वयम टेक्नोलाजी लिमिटेड, सहज रिटेल लि., रानापेय इंडिया प्राइवेट लि, बीएलएस इंटरनेशनल सर्विसेस लि. और सरल ई-कामर्स हैं। ये एजेंसियां ग्राम स्तरीय उद्यमी (वीएलई) माध्यम से उपभोक्ताओं से सीधा संपर्क करेंगी।

उपभोक्ता अपनी कंज्यूमर अकाउंट आइडी के साथ, एजेंसी के किसी भी प्रतिनिधि से संपर्क कर बिल का भुगतान कर सकते हैं। एजेंसी के प्रतिनिधि डोर-टू-डोर जाकर मासिक बिजली बिल के भुगतान के लिए उपभोक्ता से संपर्क करेंगे। उपभोक्ता घर बैठे बिजली के बिल का भुगतान कर सकेंगे। इससे समय और धन दोनों की बचत होगी।

  • 5 कंपनियों से हुआ करार
  • 14 जनपदों में दी जाएगी सुविधा

ई-वालेट के माध्यम से बिल जमा करेंगे

बिल जमा करने वाली एजेंसी ई- वालेट के माध्यम से बिलों का कलेक्शन करेंगी। वास्तविक बिजली बिल से अधिक कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। बिजली के बिल का भुगतान करने के बाद एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं को बिजली बिल की रसीद तत्काल उपलब्ध कराई जाएगी।

bijli bill ghar bethe jama honge

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

 

Leave a Comment

CAPTCHA ImageChange Image