जेई और अधिशासी अभियंता को बचाने में जुटा बिजली विभाग

बड़ौत। बड़ौली रोड पर स्थित आइस फैक्टरी में फर्जी मीटर लगाने के मामले में जांच रिपोर्ट मिलने के बाद भी विभाग जेई व अधिशासी अभियंता द्वितीय को बचाने में जुटा हुआ है। तीन माह बाद भी कार्रवाई नहीं होने पर शिकायकर्ताओं ने निगम के चेयरमैन व यूपीसीएल एमडी समेत मुख्य अभियंता को शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

बड़का रोड निवासी फारूख चौधरी पुत्र शौकत चौधरी ने गत 4 नवंबर को अधीक्षण अभियंता केपी खान को शपथ पत्र पर शिकायत देते हुए आरोप लगाया था बड़ौली रोड स्थित एक आइस फैक्टरी में मुख्य शिकायत केंद्र पर तैनात रहे जेई ने विभाग को नुकसान पहुंचाते हुए फर्जी मीटर लगा दिया था। जिसमें 6712 रीडिंग स्टोर थी, जिसकी वीडियो बनाकर अधिशासी अभियंता द्वितीय को भी शिकायत की गई थी लेकिन उन्होंने जेई के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। शिकायतकर्ता ने SE केपी खान को शिकायत की थी। एसई ने जांच बैठा दी थी। आरोप है कि एक माह पहले जांच टीम ने विभाग को जांच रिपोर्ट सौंपी दी है लेकिन विभागीय अफसर दोषी जेई व जेई को बचाने वाले अधिशासी अभियंता द्वितीय के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है। अब पीड़ित उपभोक्ता फारूख ओर समाजसेवी नरेश शर्मा ने बुधवार को निगम के चैयरमैन व यूपीसीएल एमडी समेत मुख्य अभियंता को शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। संवाद

je or adhishashi abhiyanta ko bachane me juta bijli vibhag

निगम चेयरमैन यूपीसीएल एमडी समेत मुख्य अभियंता के पास पहुंची शिकायत

विभाग का नुकसान कतई बर्दाश्त नहीं होगा। इसी सप्ताह के अंदर पूरे प्रकरण में विभाग के नुकसान को देखते हुए दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी- राघवेन्द्र यादव मुख्य अभियंता मेरठ।

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

 

Leave a Comment

CAPTCHA ImageChange Image