बगेर रीडिंग भेज रहे बिल ,शिकायते बेअसर

Spread the love

बगेर रीडिंग भेज रहे बिल ,शिकायते बेअसर

उर्जा निगम के अधिकारी इन दिनों अवैध वसूली के लिए बगेर रीडिंग के मनमाना बिल भेज रहे है| सभी बिजलीघरो पर रोज हजारो लोग शिकायते लेकर पहुंच रहे है, लेकिन इनपर कोई सुनवाई नही हो रही है|

पशिच्मांचल विधुत वितरण निगम लिमिटेड के अंतर्गत आने वाले जिलो में विभाग के मनमाना बिजली बिल भेजने से अंचल के उपभोक्ता इन दिनों खासे परेशान है| शहर और देहात के बिल सेक्शन में प्रतिदिन बिजली बिल की शिकायते लेकर हजारो लोग पहुंच रहे है| मीटर रीडिंग न होने, बिजली बिल न मिलने व् मनमाना बिजली बिल आने की शिकायत है|

उपभोक्ता ए अग्रवाल ने बताया कि मई के बाद उनका बिल अभी तक नही आया है| इस बार एसएमएस से बिजली बिल आया तो सीधा 30 हजार के लगभग इसके लिए जब आँनलाइन सिस्टम में देखा गया तो पता चला की पिछले 6 महीने से बिजली रीडिंग ही नही हुई है| बाद में एवरेज कर बिल दिया गया है |
पीवीवीएनएल के अधिकारियो का कहना है कि मीटर रीडिंग के लिए जो भी टेका लेता है एक महीने अच्छा काम करता है, फिर उसका रवैया सुस्त हो जाता है| पिछले कुछ माह पूर्व स्पाट बिलिंग की सुविधा आंरभ की गई है | अब यह तय किया जा रहा है की फोटो मीटर रीडिंग हो और निधारित तिथि में बिल भी एसएमएस हो जाए |

उपभोक्ताओ का कहना है कि सभी अधिकारी और कर्मचारी न तो इमानदार है, और नही सभी बेईमान ही है |लेकिन बेईमानो की वजह से आम जनता का जीना ही दुशवार हो गया है | अपनी उपरी कमाई के लिए वह रोज नये – नये हथकंडे अपनाते है | ताकि उपभोक्ताओ को परशान कर पैसे ऐठ सके | इसके लिए पीवीवीएनएल के एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी को अपने स्तर पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए |

द्वारा : इति भ्रष्टाचार प्रतिनिधि,

(Visited 87 times, 1 visits today)