CAT चोराहे पर बाइक सर्विस सेन्टर का बिजली बिल Rs.192384 | मीटर रीडिंग में गड़बड़ी का मामला

Spread the love

CAT चोराहे पर बाइक सर्विस सेन्टर का बिजली बिल Rs.192384 | मीटर रीडिंग में गड़बड़ी का मामला

पुरे भारत में इसे लाखो मामले है जिनमे विद्युत विभाग विद्युत उपभोगता को कभी भी कितनी भी राशी का बिजली बिल भेज देते है और मध्यप्रदेश विद्युत विभाग (MPEB) भी इन मामलो में सबसे आगे है | मध्यप्रदेश व पुरे भारत के हर झोन में आपको 40% – 60% मीटर रीडर द्वारा रीडिंग ठीक से न लेने की वजह से उपभोगता को सही बिल न आने की समस्या आना तो अब आम बात हो गई | इंदौर MPEB के हवाबंगला रोड के आस्था सर्विस सेन्टर का हर माह का बिजली बिल 250-300 यूनिट का जो की लगभग 2000 से 3000 के बिच आता था | दिसम्बर 2017 में एक डम्पर द्वारा आस-पास के 2-3 लोगो केबल और मीटर छतीग्रस्त हुए थे जिसकी शिकायत सम्बंधित हवाबंगला झोन, इंदौर MPEB मुख्य कार्यलय पोलो ग्राउंड व क्षेत्रीय थाना पर भी की गई | जिसके बाद अप्रैल 2018 उपभोगता को अनुमानित राशी के बिल भेजे गए और मीटर भी घटना के 4 माह बाद लगाया गया और तब से ही बिजली बिल में गड़बड़ी शुरू हो गई और मीटर रीडिंग भी अनियमित रही |

इस पूरी घटना के बाद से लगभग 2 वर्ष से हर माह का बिजली बिल 10,000 से 15,000 के आस-पास आने लगे | इस बिल के पहले के महीनो में भी 297,302,1000,632,2387,1189 और 7099 रीडिंग के बिल भेजे गए है जिससे साफ़ पता चलता है के यहाँ महीनो से ठीक तरह से रीडिंग नहीं ली जा रही है और उपभोगता को एक दम से इतनी बड़ी राशी के बिल आ रहे है और जब झोन पर गलत बिलों को सही नहीं किया जाता और उपभोगता के बिल भरने में विलम्ब होने पर 1% की पेनल्टी भी लगाई जाती है | मतलब विद्युत विभाग के कर्मचारियों की गलतियों की सजा भी विद्युत उपभोगता को ही भुगतना पड़ती है |

इस पुरे मामले के लिए उपभोगता पिछले 2 वर्ष से शिकायते कर रहे है पर हवाबंगला झोन के AE Pratap Tindwani से भी बहुत बार बात की गई पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा और समस्या अब और बड़ी हो गई है | हवाबंगला झोन के AE Pratap Tindwani ने अपने मीटर रीडर्स गलती छुपाते हुए उल्टा उपभोगता को जिम्मेदार बताया और साधारण सा स्लैब डिस्काउंट दे कर बाकी बिल को जल्द से जल्द भरने को कहा | MPEB द्वारा Rs. 1,92,384 का भेजा गया बिजली बिल उपभोगता के साथ एक मजाक जेसा है |

उपभोगता द्वारा मोबाइल से हमे भेजा गया बिल जिसमे गलतियों को उजागर किया गया है :

इस पुरे मामले की शिकायत उपभोगता द्वारा “इंदौर विद्युत शिकायत निवारण फोरम” में कर दी गई है और इसका जो भी निराकरण माननीय फोरम द्वारा किया जायेगा उसकी पूरी जानकारी आगे इस वेबसाइट पर साझा की जायेगी ताकि जन कल्याण के लिए सभी विद्युत उपभोगता को जागरूक किया जा सके |

नोट : अगर आपकी हमारी इस वेबसाइट से किसी भी तरह से कोई मदद हुई हो तो और आप हमारी मदद करना चाहते है तो आप हमारे PayTM नंबर 9669000188 पर हमे अपनी इच्छा से जितनी चाहे उतनी राशी  भेज सकते है ताकि हम ऐसे और लोगो की मदद कर सके |

(Visited 321 times, 1 visits today)