लाखों का भुगतान करने वाले बिजली अधिकारी की हो सकती है जाँच

Spread the love

उरई (जालौन) : जनपद के एक बिजली अधिकारी द्वारा डिवीजन के एक अधिशासी अभियन्ता के रिटायरमेण्ट के बाद मिले चार्ज के बाद किये गये लाखों के भुगतान की जांच हो सकती है। मिली जानकारी पर अगर गौर करें तो उक्त संबन्ध में उच्च स्तर पर जांच होने की संभावना जतायी जा रही है। गौरतलब रहे कि बीते दिनों पूर्व बिजली विभाग के एक अधिकारी का रिटायरमेण्ट हो गया था। उक्त रिटायरमेण्ट उपरान्त एक अन्य समकक्ष अधिकारी को रिटायरमेण्ट हुये अधिकारी वाला चार्ज मिल गया था। बताया जाता है कि उक्त अधिकारी को चार्ज मिलते ही आनन फानन में सालों से लटके ठेकेदारों के वह कार्य जो या तो पू र्ण नहीं हुये थे या जिसमें गोलमाल होने की पूरी आशंका थी, जिसको फीलगुड कराकर ठेकेदार भुगतान कराना चाह रहे थे। लेकिन, रिटायरमेण्ट से पूर्व रिटायर हुये उक्त अधिकारी कई शिफारिशों के बावजूद भुगतान नहीं कर रहे थे।

केवल कुछ महीनों के मिले चार्ज उपरान्त नये अधिकारी ने लाखों का भुगतान कर डाला। उक्त भुगतान की डिवीजन स्तर पर भी खूब चर्चायें हुयीं। सूत्रों पर गौर करें तो अब उक्त किये गये भुगतान की बेहद सक्षम स्तर पर शिकायत की गयी हैं, जिसमें डिवीजन के हुये भुगतान के अलावा उक्त भुगतान करने वाले अधिकारी द्वारा एक अन्य डिवीजन में भी उक्त अन्य डिवीजन के अधिकारी के अचानक गम्भीर रूप से बीमार पड़ जाने पर लम्बी छुटटी चले जाने पर व सालों से लंबित पड़ी बड़ी राशि का भुगतान कर दिया था। उक्त समय भी किये गये बड़े स्तर पर भुगतान की चर्चायें तो हुयी थी, लेकिन बाद में मामला शान्त हो गया था। विभागीय चर्चाओं पर गौर करें तो अगर उक्त दोनो डिवीजनों में किये गये भुगतान की अगर जांच हो गयी तो बड़े स्तर पर लाखों के गोलमाल की कहानी सामने आ सकती है। इसमें कई ठेकेदार जो किसी अधिकारी को फीलगुड कराकर लाखों हजम कर गये, उनकी असलियत भी सामने आ जायेगी।

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA ImageChange Image