बिजली बिल में गड़बड़ी कैसे चेक करें | Bijli Bill Check Kaise Karen

Contents hide
Spread the love

इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की बिजली बिल में गड़बड़ी कैसे चेक करें (Bijli Bill Check Kaise Karen) | आज के समय में बिना बिजली के कोई भी नहीं रह सकता है ओर इसी बात का फायदा बिजली विभाग के कर्मचारी ओर अधिकारी उठाते हैं ओर उपभोक्ता के साथ गड़बड़ियों के बिल या ज्यादा राशि के बिल भेज कर करते है | आज के समय में हजारों-लाखों रुपए के बिजली बिल आना आम बात हो गई है | किसी भी घर में हर महीने बिजली बिल भरने के बाद भी एक दम से दस हजार, पचास हजार या लाखों रुपयों के बिजली बिल भेज दिए जाते है और इसके लिए विद्युत् उपभोगता बिजली विभाग के चक्कर लगा कर थक जाता है पर उनकी कोई सुनवाई नहीं होती |

बिजली बिल में हो रही गड़बड़ी की वजह से लगभग 90% विद्युत् उपभोगता परेशान है पर बिजली बिल में गलती और गड़बड़ियों को किस तरह से जाना जाये इसके बारे में किसी को पता नहीं होता और ना ही बिजली विभाग उन्हें किसी तरह की मदद करता है बिल को ठीक करने में | अगर आप भी ज्यादा बिजली के बिल आने से परेशान है और इस तरह के गड़बड़ियों वाले बिल आने का समाधान चाहते है तो इस आर्टिकलको आखिर तक पढ़े जिससे जीवन में कभी भी आपको बिजली बिल ज्यादा आने पर उसे कैसे सही करवाना है उसकी पूरी जानकारी आसन शब्दों में बताने वाले है |

बिजली बिल में गड़बड़ी कैसे चेक करें | Bijli Bill Check Kaise Karen

bijli bill check kaise karen

आम तौर पर हमारे घर, दुकान या ऑफिस में जितना भी बिजली आता है हम हर माह उसे भर देते है चाहे वो कम हो या ज्यादा | 99% लोग यह देखते ही नहीं की यह बिजली बिल हमें सही आया है या इसमें कोई गड़बड़ी है मतलब की हमने उस माह उतनी बिजली स्तेमाल की है या नहीं जितना हमें बिजली बिल आया है और उसे भर देते है | जब तक आपको यह पता नहीं चलता की बिजली बिल में क्होया गड़बड़ी हो रही है और कैसे हो रही है तब तक आप इसे बिजली विभाग से सही नहीं करवा सकते और वैसे भी बिजली विभाग तो आपको किसी भी तरह से कोई मदद नहीं करता उल्टा आपसे बिल जल्द से जल्द भरने को बोलते है या कनेक्शन काटने की धमकी देते है जिस वजह से ज्यादतर लोग गलत आरहे बिजली बिलों को भी भर देते है |

बिजली विभाग और इसके सारे कर्मचारियों को बहुत अच्छे से पता होता है की बिजली बिल में क्या गड़बड़ी है और वो ये भी बहुत अच्छे से जानते है की अगर विद्युत् उपभोगता को बिजली बिल में हो रही गड़बड़ी को पकड़ना आ जाये तो उन्हें उस बिल को सही कर के उसमे बिल की राशी को कम करना ही पड़ेगा इस लिए वो कभी भी उन्हें इसके बारे में कुछ नहीं बताते और ना ही विद्युत् उपभोगता की जाग्रति के लिए कोई काम नहीं करते | पर हम हमारी इस वेबसाइट पर बिजली विभाग से सम्बंधित सारी जानकारी इतने आसन शब्दों में बताते है की कोई बच्चा भी बिल देखते ही बिजली बिल की गलती और गड़बड़ियों को आसानी से जान सकता है | बिजली बिल की गलती और गड़बड़ियों को जानना काफी आसान है जिसके लिए आपको बिल में कुछ बिन्दुओ पर ध्यान देना होगा जिसके बारे में हम आपको विस्तृत जानकारी निचे बता रहे है |

बिजली बिल में गड़बड़ी को कैसे जाने (How to check Electricity Bill Error) :

  • बिजली बिल में उस माह में कितनी यूनिट की खपत दर्शाई है.
  • बिल में दर्शाई यूनिट और बिजली मीटर में यूनिट देखे उनमे कुछ यूनिट का अंतर ही होना चाहिए.
  • बिल में पिछले माह की यूनिट की खपत भी देखें.
  • बिल में मीटर रीडर द्वारा मीटर रीडिंग ली जाने की दिनांक.
  • पिछले कुछ बिलों को भी देखें की मीटर रीडर उन महीनो में समय पर रीडिंग लेने आया था की नहीं.
  • आपका बिजली कनेक्शन जितने किलोवाट (KW) का है उससे ज्यादा किलोवाट तो नहीं दर्शा रहा.

बिजली बिल में गड़बड़ी कैसे चेक करें जाने इस विडियो में (Bijli Bill Check Kaise Karen Video Tutorial) :

मीटर रीडर द्वारा हर माह समय पर मीटर यूनिट की रीडिंग होना चाहिए :

हम जितनी बिजली यूनिट की खपत करते है बिजली विभाग उसके हिसाब से हमें बिजली बिल भेजते है | बिजली बिल में गड़बड़ी का सबसे बड़ा कारण मीटर रीडर होता है जिसकी वजह से एक दम से कम या ज्यादा बिजली बिल आते है | अगर आपका मीटर रीडर हर माह समय पर आपके बिजली मीटर में हुई यूनिट की खपत की रीडिंग दर्ज नहीं करेगा तो आपका बिजली बिल सही कैसे आएगा | इस तरह की समस्या के लिए सबसे बड़ा जिम्मेदार मीटर रीडर होता है जो इमानदारी से अपना काम नहीं करता और हर माह रीडिंग प्रॉपर नहीं लेता और कुछ भी यूनिट आपके बिल में अपडेट करता रहता है जिस वजह से बिजली बिल आपको कभी कम आता है और कभी एक दम से ज्यादा आ जाता है | ऐसा इस लिए होता है क्यूंकि ज्यादतर विद्युत् उपभोगता हर माह जितना बिजली बिल आता है उतना बिल भर देते है और वो इस बात का हिसाब नहीं रखते की उन्होंने इस माह कितनी यूनिट जलाई और उतनी यूनिट बिल में मीटर रीडर ने सही जोड़ी या नहीं |

बिजली बिल ज्यादा आने पर क्या करे (Bijli Bill jyada aane par kya karen)

आपके साथ जब भी कभी ऐसा हो के बिजली विभाग आपके घर, दुकान, कारखाना, ऑफिस इत्यादि पर हर महीने समय पर बिजली बिल भरने के बाद भी एक दम से हजारो-लाखो रुपयों का बिजली बिल भेज देता है जबकि आपने उतनी बिजली स्तेमाल ही नहीं की और इसके लिए आप अपने बिजली विभाग के चक्कर लगा-लगा कर थक चुके है फिर भी आपकी कोई मदद नहीं कर रहा हो तो घबराने की बिलकुल जरुरत नहीं क्यूंकि ज्यादतर ऐसी समस्या बिजली विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियो की गलती से ही होते है |

एक दम से ज्यादा राशी का बिजली बिल आने का कारण ?

इस तरह की समस्या के लिए सबसे बड़ा जिम्मेदार मीटर रीडर होता है जो इमानदारी से अपना काम नहीं करता और हर माह रीडिंग प्रॉपर नहीं लेता और कुछ भी यूनिट आपके बिल में अपडेट करता रहता है जिस वजह से बिजली बिल आपको कभी कम आता है और कभी एक दम से ज्यादा आ जाता है | ऐसा इस लिए होता है क्यूंकि ज्यादतर विद्युत् उपभोगता हर माह जितना बिजली बिल आता है उतना बिल भर देते है और वो इस बात का हिसाब नहीं रखते की उन्होंने इस माह कितनी यूनिट जलाई और उतनी यूनिट बिल में मीटर रीडर ने सही जोड़ी या नहीं |

एक दम से ज्यादा राशी के बिजली बिल आने से कैसे बचे ?

हर एक विद्युत् उपभोगता को अपने घर पर हर माह की पहली तारीख से आखरी तारीख तक या मीटर रीडर की रीडिंग लेने की जो तारीख होती है उस तारीख से अगले महीने की रीडिंग लेने की तारीख तक यूनिट का हिसाब रखना चाहिए ताकि अगर आपका मीटर रीडर अगर गलत रीडिंग आपके बिल में जोड़ता है तो अपने विद्युत् झोन पर जा कर उसकी शिकायत कर सकें | अगर ये आदत हर एक विद्युत् उपभोगता अपना ले जो जीवन में कभी भी उनके घर एक दम से ज्यादा राशी का बिजली बिल आ ही नहीं आ सकता |

ज्यादा राशी के बिजली बिल आने पर हमें क्या करना चाहिए ?

सबसे पहली बात हर एक विद्युत् उपभोगता को हर माह अपने यूनिट की खपत का हिसाब रखना है की हर माह आपके यहाँ कितने यूनिट बिजली की खपत होती है | अगर मीटर रीडर हर माह प्रॉपर यूनिट आपके बिल में नहीं देता है तो कभी भी एक दम से आपको हजारो लाखो का बिजली बिल आ सकता है, इस लिए ये सबसे जरुरी आदत आपको बनाना पड़ेगी की हर माह आप जितनी भी यूनिट की खपत करते है उसकी जानकारी आपको कही लिख कर रखना होगी और जब भी कभी एक दम से ज्यादा राशी का बिल आता है तो इसके लिए आपको अपने विद्युत् झोन पर लिखित शिकायत करना है या 1912 पर इसकी शिकायत करनी है | अगर 15 दिन में बिजली विभाग के झोन से आपको कोई मदद नहीं की जाती है तो आपको सीधे “विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम” पर शिकायत करनी है | विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम पर आपको शिकायत कैसे करना है उसके लिए यहाँ क्लिक करे |

“विद्युत उपभोगता शिकायत निवारण फोरम” में आप बिजली विभाग के खिलाफ शिकायत कैसे कर सकते है उसके लिए हमारा विडियो देखे (Bijli Bill jyada aane par kya karen) :

विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम में शिकायत करने के लिए आपको ना ही कोई पैसे खर्चा करना है और ना ही आपको कोई एडवोकेट करना है, इसकी पूरी जानकारी के लिए आप ऊपर दिए हमारे इस विडियो को पूरा ध्यान से देखिये | इस तरह के मामले मीटर रीडर की गड़बड़ी से होते है जिसके लिए विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम में शिकायत करने पर आप आसानी से केस जित सकते है | बिजली विभाग को विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम में आप बहुत आसानी से हरा सकते है बस आपको अपनी समस्या को सही तरीके से प्रस्तुत करना आना चाहिए |

बिजली विभाग के हिसाब से शिकायत करने का तरीका :

1.सम्बंधित झोन पर लिखित शिकायत दे |
2.बिजली विभाग के टोल फ्री नंबर 1912 पर कॉल कर शिकायत दर्ज करें |
3.कार्यपालन यंत्री (DE) या अधीक्षक यंत्री (SE) को शिकायत करे |
4.बिजली विभाग के प्रबंधक (Managing Director) को शिकायत करे |
5.राज्य के उर्जा मंत्री को शिकायत करे |
6.केंद्रीय उर्जा मंत्री को शिकायत करे |

उपरोक्त सभी विद्युत विभाग के हिसाब से शिकायत करने का तरीका है जिससे 90% उपभोगताओ की समस्या का समाधान नहीं होते | सरकार को इस तरफ ध्यान देना चाहिए ताकि इस तरह उपभोगता का शोषण न हो | विद्युत विभाग के बड़े अधिकारियो के कामो पर भी नजर रखना चाहिए क्यों की ऐसी घटना आये दिन होती रहती है | सरकार को एक ऐसा डिपार्टमेंट भी बनाना चाहिए जहा कोई भी साधारण इंसान किसी भी बड़े अधिकारी की शिकायत कर सके | इस तरह की घटनाओ को रोकने के लिए विद्युत विभाग के बड़े अधिकारी के दोशी पाए जाने पर उनकी तनखा से कुछ राशी दण्ड के रूप में काटी जाना चाहिए ताकि उनको भी सबक लगे |

बिजली विभाग के अधिकारीयो व कर्मचारियों की शिकायत करने के वो तरीके जिसे बहुत कम लोग जानते है :

1.अपने क्षेत्र के सम्बंधित कलेक्टर ऑफिस की जनसुनवाई में भी शिकायत कर सकते है |
2.अपने राज्य के विद्युत् राज्यपाल को भी शिकायत कर सकते है |
3.अगर आपके पास बिजली विभाग के अधिकारीयो व कर्मचारियों के खिलाफ घूस लेने या भ्रष्टाचार करने के कोई सबूत है तो आप एंटी करप्मेंशन को भी इनकी शिकायत कर सकते है |
4.अगर सब जगह शिकायत करने के बाद भी आपकी कोई मदद नही हो तो देश के सबसे उच्च पद “देश के राष्ट्रपति” व “देश के प्रधान मंत्री” को भी शिकायत कर सकते है |

FAQ :

Q1. बिजली का बिल ज्यादा आने पर शिकायत पत्र ?
Answer : बिजली बिल ज्यादा आने पर शिकायत लिखना बहुत ही आसन है जिसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको यहाँ क्लिक कर के मिल जाएगी |

Q2. बिजली बिल की शिकायत कहां करें ?
Answer : बिजली बिल ज्यादा आने पर सबसे पहले आपको टोल फ्री नंबर 1912 पर शिकायत दर्ज करना है अगर 5-7 दिन में आपके बिजली बिल को सही नहीं किया जाता है तो आपको “विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम” में शिकायत करना चाहिए | विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम में शिकायत कैसे करते है उसके लिए यहाँ क्लिक करे |

Q3. बिजली बिल शिकायत नंबर ?
Answer : भारत में बिजली विभाग से संबंधित शिकायत करने के लिए आपको टोल फ्री नंबर 1912 पर शिकायत दर्ज करना चाहिए जिस पर कॉल करने के लिए आपको कोई पैसा नहीं देना पड़ता | बिजली विभाग टोल फ्री नंबर 1912 के बारे में ज्यादा जानकारी लेने के लिए यहाँ क्लिक करे |

Conclusion :

बिजली बिल में गड़बड़ी कैसे चेक करें (Bijli Bill Check Kaise Karen) और इसके लिए आपको बिलकुल भी घबराने की जरुरत नहीं है | जब भी कभी ऐसा हो के बिजली विभाग आपके घर, दुकान, कारखाना, ऑफिस इत्यादि पर हर महीने समय पर बिजली बिल भरने के बाद भी एक दम से हजारो-लाखो रुपयों का बिजली बिल भेज देता है जबकि आपने उतनी बिजली स्तेमाल ही नहीं की और इसके लिए आप अपने बिजली विभाग के चक्कर लगा-लगा कर थक चुके है फिर भी आपकी कोई मदद नहीं कर रहा हो तो घबराने की बिलकुल जरुरत नहीं क्यूंकि ज्यादतर ऐसी समस्या बिजली विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियो की गलती से ही होते है जिसके लिए आपको “विद्युत् उपभोगता शिकायत निवारण फोरम” पर शिकायत करना चाहिए |

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA ImageChange Image