एक ही महीने में भेजा 2806 यूनिट का Rs.24223.00 का बिजली बिल | MPEB राजमोहल्ला झोन में मीटर रीडिंग के नाम पर मजाक

Spread the love

एक ही महीने में भेजा 2806 यूनिट का Rs.24223.00 का बिजली बिल | MPEB राजमोहल्ला झोन में मीटर रीडिंग के नाम पर मजाक

पुरे मध्यप्रदेश में विद्युत विभाग के हर एक क्षेत्र में हर जोन में आपको 40% – 60% मीटर रीडर द्वारा रीडिंग ठीक से न लेने की वजह से उपभोगता को सही बिल न आने की समस्या आना तो अब आम बात सी हो गई है | इंदौर के MPEB राजमोहल्ला झोन में भी मीटर रीडिंग में गड़बड़ी की वजह से एक उपभोगता को 2806 यूनिट  का Rs.24223.00 का बिजली बिल भेजा गया, जबकि इस घरेलु कनेक्शन में पहले हर माह 40 से 80 यूनिट का Rs.500 से Rs.800 का बिजली बिल आता था | जिससे पता चलता है के यहाँ महीनो से ठीक तरह से रीडिंग नहीं ली जा रही है और ये MPEB राजमोहल्ला झोन का पहला मामला नहीं है | हमारी वेबसाइट पर इस जोन के गड़बड़ी वाले बहुत सारे बिल अपलोड हुए है | इस जोन के AE Mr.Amresh सेठ और JE Mr.Raj Kumar Shah है | इनके जोन के मीटर रीडर्स के द्वारा हो रही गड़बड़ियो पर लगाम लगाने में भी ये असमर्थ है और उपभोगता के शिकायत करने पर उन्हें भी अनदेखा करते है |

उपभोगता द्वारा हमे Whatsapp पर भेजा गया उनका बिजली बिल और जिसमे हमने इस बिल में हुई गड़बड़ी को हाईलाइट किया हुआ है जिससे बाकी उपभोगता को समझने में आसानी हो के केसे विद्युत विभाग गलती करता है जिसे हम समझ नहीं पाते और ऐसे बड़े राशी के बिजली बिल हमे आते है :

जेसा की आप जानते है हमारी इस वेबसाइट पर उन्ही बिल्स को पब्लिकली शेयर करते है जो उपभोगता स्यमं हमे बिल्स भेजते है पर ऐसे हजारो बिल्स है जो हमारे पास नहीं आते और किसी को इस तरह की गड़बड़ी के बारे में पता नहीं चलता और जिसमे मीटर रीडर महीनो तक रीडिंग नहीं ले रहा है और एवरेज रीडिंग के बिल भेज रहे है | इस बिल में भी मीटर रीडर महीनो से सही रीडिंग नहीं ले रहा है और अनुमानित रीडिंग लेने की वजह से जब कभी सही रीडिंग ली जाती है तो रीडिंग में ज्यादा अन्तेर आने की वजह से ज्यादा राशी के बिल आजाते है और उस वजह से उपभोगता परेशान होते है |

बिजली विभाग से संबंधित अन्य पोस्ट भी देखें | Also see other posts related to Electricity Department :

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA ImageChange Image